देश/प्रदेश

शिकायतों का गंभीरता से निराकरण् करें अधिकारी

चम्पावत :जनसमस्या निवारण शिविर में नौ शिकायतें दर्ज की गई। शिविर की अध्यक्षता कर रहे डीएम एसएन पांडे ने अधिकारियों को प्रभावी कार्रवाई करते हुए शिकायतों का तय सीमा में समाधान करने के निर्देश दिए।

इस दौरान ग्राम चौड़ाकोट के तिलोग राम ने मनरेगा योजना‌र्न्तगत ग्राम रोजगार सेवक के पद पर नियुक्ति चाहने, ग्राम पंचायत रमक के भैरवदत्त ने वर्ष 2014 से 2019 तक के ग्राम पंचायत में हुए कार्या की जांच कराने की मांग की। ग्राम पंचायत सिलाड़ के संजय चौड़ाकोटी ने साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में तैनात शिक्षा प्रेरकों के 17 माह का अवशेष मानदेय दिलाने, रमक के भुवन चन्द्र ने ग्राम पंचायत रमक के ग्राम बचौड़ा के दबंग व्यक्तियों द्वारा धमकी देने और जबदस्ती उनकी नाप भूमि से अवैध खनन करने की शिकायत की। ग्राम चौड़ाकोट के तिलोग राम ने भारतीय डाक विभाग में डाकपाल के पद पर बिना शासनादेश विज्ञप्ति के अनुचित नियुक्ति का मामला उठाया।

ग्राम मौराड़ी बनलेख के मुरलीधर जोशी ने राष्ट्रीय राजमार्ग बनलेख स्थित टनकपुर अस्कोट दो किमी पैदल मार्ग को पूर्ववत संचालित किए जाने, मौनपोखरी के मोहन सिंह महर ने मौनपोखरी नीड़ मोटर मार्ग में छह मीटर पुल निर्माण की जाच करने, ग्राम पंचायत अमकड़ियों के लोगों ने सिप्टी से अमकड़िया तक रोड कटिंग के दौरान पाइप लाइन जगह-जगह टूटने का मामला रखा।

चेतराम की शिकायत पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को समस्या के निस्तारण के निर्देश दिए। इस मौके पर जिलाधिकारी ने समय-समय पर आयोजित होने वाले तहसील दिवसों, बहुद्देश्यीय शिविरों, जनसुनवाई दिवसों, कार्यालय दिवसों में प्राप्त शिकायतों की भी समीक्षा की।

कहा कि अधिकारी सभी शिकायतों का 15 दिन के भीतर निस्तारण करें। उन्होंने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कार्यालय पहुंचते ही जनपद में संचालित ऑफिसर एबीलिटी मैनेजमेंट सिस्टम में उपस्थिति दर्ज कराने के निर्देश दिए।

इस मौके पर एसडीएम अनिल गब्र्याल, शिप्रा जोशी, सीएमओ डॉ.आरपी खंडूरी, पीडी विम्मी जोशी, सीनियर ट्रेजरी ऑफीसर एचपी गंगवार, सीईओ आरसी पुरोहित, अधिशासी अधिकारी एनएच एलडी मथेला, आपदा प्रबंधन अधिकारी मनोज पांडेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी पीएस बृजवाल, पर्यटन अधिकारी लता बिष्ट, युवा कल्याण अधिकारी प्रतीक जोशी, उद्यान अधिकारी एनके आर्या समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

विशेष