देश/प्रदेश

लीसा श्रमिक व ठेकेदार अनशन पर बैठे

अल्मोड़ा: वन विभाग द्वारा विगत पांच वर्षो से लीसे का भुगतान नहीं किया गया है। जिसके विरोध मे लीसा श्रमिकों व ठेकेदारों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। शनिवार को उन्होंने विभाग के कार्यालय परिसर में अनशन व प्रदर्शन करते हुए जल्द भुगतान करने की मांग की। वहीं 12 फरवरी से वन विभाग के कार्यालयों में तालाबंदी करने की चेतावनी भी दी।

 

लीसा व्यवसायियों ने कहा कि उनकी मांगों पर न तो सरकार ध्यान दे रही है और न ही विभाग के अधिकारी कोई सुध ले रहे हैं। पिछले कई वर्षो से वह विभाग से लीसा का भुगतान करने की मांग करते आ रहे हैं। लेकिन विभाग है कि उनकी समस्याओं की अनदेखी करने में लगा है। जिसके कारण लीसा व्यवसाय से जुडें जिले के तीस हजार परिवार भूखमरी की कगार पर आ गए हैं।

वक्ताओं ने कहा कि यदि 11 फरवरी तक भुगतान नहीं किया गया तो 12 फरवरी से वह डीएफओ कार्यालय, वन संरक्षक कार्यालय में अनिश्चित कालीन तालाबंदी कर देंगे। शनिवार को धरने का पूर्व ब्लॉक प्रमुख द्वाराहाट राजेंद्र किरौला ने समर्थन दिया।

हरीश चंद्र पांडे, पीसी जोशी, दिगंबर सिंह बिष्ट, राजेंद्र किरौला, सुरेंद्र सिंह बेलवाल, राधा बल्लभ, कुंदन परिहार, प्रभा देवी, ललित मोहन, शिव सिंह, जगत सिंह, चेतन जोशी, कुशाल सिंह चिलवाल, जगदीश सिंह राणा आदि अनशन पर बैठे।

विशेष