देश/प्रदेश

ब्लॉक प्रमुख चुनाव नतीजों से कांग्रेस को संतोष

देहरादून , प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार की ओर से चुनाव जीतने के लिए प्रशासन पर दबाव बनाया हुआ था। इसके बावजूद कांग्रेस ने बेहतर प्रदर्शन किया। निर्दलों की बड़ी संख्या में जीत सत्तारूढ़ दल के खिलाफ जनता में रोष को साफ तौर पर दर्शा रहा है।

उत्तराखंड में ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव में करीब 31 फीसद सीटों पर कांग्रेस ने दावा किया है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अब तक के प्रदर्शन को पार्टी संतोषजनक मान रही है। प्रदेश संगठन पंचायतों में अपने प्रदर्शन को नगर निकायों की तर्ज पर ही प्रचंड बहुमत से सत्ता पर आरुढ़ भाजपा के खिलाफ जनाक्रोश की अभिव्यक्ति करार दे रहा है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायतों में कांग्रेस के साथ ही निर्दलों को बड़ी संख्या में कामयाबी मिली है। यह सरकार के खिलाफ पंचायतों में बड़ा जनमत है। नगर निकाय चुनाव के बाद अब पंचायत चुनाव को कांग्रेस अपने लिए राहत के तौर पर देख रही है। हालांकि त्रिस्तरीय पंचायतों में कांग्रेस की जड़ें गहरी मानी जाती हैं।

पिछले पंचायत चुनाव के दौरान प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी। लिहाजा पंचायतों पर पार्टी का एकतरफा कब्जा रहा है। अब तस्वीर में बदलाव दिखाई दे रहा है। खासतौर पर वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव में भाजपा तीन चौथाई से ज्यादा बहुमत के साथ कांग्रेस को हाशिए पर धकेलने में कामयाब रही थी। इस वजह से प्रदेश में शहरों और पंचायतों में छोटी सरकारों के गठन के लिए कांग्रेस ने अपनी खोई ताकत दोबारा हासिल करने के लिए पूरी ताकत झोंकी।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ग्राम प्रधान से लेकर क्षेत्र पंचायतों और जिला पंचायतों में सदस्यों में निर्दलों को बड़ी संख्या में जीत मिली है। कांग्रेस इन निर्दलों को अपनी विचारधारा से जुड़ा करार दे रही है। हालांकि त्रिस्तरीय पंचायत सदस्यों के बूते ब्लॉक प्रमुखों और जिला पंचायत अध्यक्षों के चुनाव में भी कांग्रेस पर बेहतर प्रदर्शन का दबाव है।

जिला पंचायतों के अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा के दांव के आगे कांग्रेस भले ही पीछे नजर आ रही हो, लेकिन ब्लॉक प्रमुखों में उसने चुनाव में खड़े किए गए समर्थित 34 प्रत्याशियों में से 28 को जीत मिलने का दावा किया है। प्रदेश में कुल 95 ब्लॉकों में हरिद्वार जिले को छोड़कर शेष 12 जिलों के 89 ब्लॉकों में प्रमुखों के चुनाव बुधवार को संपन्न हुए। ब्लॉकों में विजयी निर्दलों में करीब आधा दर्जन को कांग्रेस अपनी विचारधारा से जुड़ा बता रही है।

विशेष