देश/प्रदेश

बिगड़े मौसम ने लगाया खाती गांव में हिम क‌र्फ्यू

????????????????????????????????????????????????????????

बागेश्वर :उत्तराखंड के बागेश्वर जिले का अंतिम गाव खाती अब भी बर्फ से पटा हुआ है। सड़क, बिजली और पानी की समस्या गंभीर हो गई है। सर्वाधिक दिक्कत मवेशियों के चारे को लेकर है। खेतों में बोई सब्जिया सड़ गई हैं। गाव के रोजगार का साधन पर्यटन भी प्रभावित है। पिंडारी, काफनी ग्लेशियर के साथ ही सुंदरघाटी को जोडऩे वाले रास्ते से आवाजाही नहीं हो सकी है।

 

खाती गांव की जिला मुख्यालय से दूरी करीब 70 किमी है। मुख्य धारा से कटने के कारण गांव में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है।

रोजगार के नाम पर बस पर्यटन ही एक मात्र विकल्प है। उच्च हिमालयी इस गांव में अबकी बार नवंबर से ही भारी बर्फबारी शुरू हो गई। गांव आज भी बर्फ से उबर नहीं सका है। पूरा गांव बर्फ की सफेद चादर में लिपटा है।

इसका असर खेतों में भी दिख रहा है। गेहूं, जौ, पालक, लाही, गोभी की फसल बर्फ से ढककर सड़ गई है। करीब चार से पांच फीट तक बर्फ अब भी पड़ी हुई है। किसी तरह से चौक विनायक तक सड़क से बर्फ हटाई गई है। करीब बीस किमी खरकिया तक सड़क बर्फ से ढकी हुई है। यहां से चार किमी पैदल रास्ते से होते हुए खाती पहुंचा जाता है, लेकिन मोटी बर्फ के कारण पैदल आवागमन भी संभव नहीं है।

विशेष