देश/प्रदेश

प्लास्टिक और पॉलीथिन मुक्ति अभियान का सपना उत्तराखंड में होने जा रहा साकार

हरिद्वार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकताओं में शुमार प्लास्टिक-पॉलीथिन मुक्ति अभियान का सपना उत्तराखंड में साकार होने जा रहा है। पंचायत राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हरिद्वार के सिडकुल में प्रदेश के पहले कामन वेस्ट प्लास्टिक रिसाइक्लिंग प्लांट का शिलान्यास किया।

केंद्र की मदद से बनने वाले इस प्लांट पर करीब चार करोड़ रुपये की लागत आएगी। केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत यह प्लांट लगाया जा रहा है। यदि यह सफलतापूर्वक चला तो प्रदेश के अन्य जिलों में भी ऐसे प्लांट लगाने पर विचार किया जाएगा।

 

रविवार को हरिद्वार में केंद्रीय मंत्री तोमर और मुख्यमंत्री रावत ने भूमि पूजन किया। इस प्लांट में गांवों से एकत्रित किए जाने वाले प्लास्टिक कचरे का निस्तारण होगा। प्लांट में कचरे से पीवीसी पाइप और प्लास्टिक के खिड़की-दरवाजे जैसे उत्पाद तैयार होंगे।

उम्मीद जताई जा रही है कि प्लांट में छह माह में काम शुरू हो जाएगा। इस पहल से जहां प्लास्टिक कचरे से मुक्ति मिलेगी, वहीं गांवों में रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। इस मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन में देश के नामचीन लोगों के साथ पंचायतों के प्रतिनिधि भी सहयोग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि देश में स्वच्छता अभियान ने गति पकड़ी है और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इसे स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि यह स्वच्छता मिशन का परिणाम है कि देश चार लाख बच्चों की डायरिया से जान बच गई हे।

विशेष