देश/प्रदेश

प्रश्नों का उत्तर नहीं दे पाए छात्र

बागेश्वर, जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने शुक्रवार को स्कूल, अस्पताल आदि का रुख किया और कक्षा-कक्षों में जाकर बच्चों ने सवाल पूछे।

सटीक उत्तर नहीं मिलने पर डीएम नाराज दिखी और शिक्षकों को गुणवत्ता परक शिक्षा देने के निर्देश दिए। सीईओ को ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए।

डीएम ने प्राथमिक विद्यालय कांडेकन्याल एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जगत सिंह माजिला इंटर कालेज का निरीक्षण किया और बच्चों से सवाल पूछे लेकिन वह सही जवाब नहीं दे पाए।

उन्होंने शिक्षकों को कड़े शब्दों में चेतावनी दी। कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता में कतई भी लापरवाही बर्दाशत नहीं की जाएगी। शिक्षक कार्यशैली बदलें। यदि ऐसा नहीं होता है तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सीईओ और डीईओ को निर्देश दिए कि वह समय-समय पर औचक निरीक्षण करेंगे।

ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करें। डीएम ने राजकीय बालिका इंटर कालेज कांडा का औचक निरीक्षण किया। कक्षा छह से 12 वीं तक प्रत्येक कक्षा तक पहुंची। छात्राओं से प्रश्न पूछे और सही जवाब मिलने पर प्रसन्नता जताई।

प्रधानाचार्य मीनाक्षी जोशी ने बताया कि कालेज परिसर में पेयजल लाइन है लेकिन कनेक्शन नहीं है। पानी की आपूíत नहीं हो पाती है। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र भी देखा और गर्भवती महिलाओं को टेक होम राशन की जानकारी ली। निद्रेश दिए कि महिलाओं को समय पर राशन उपलब्ध करया जाए और बच्चों की सही प्रकार से देखाभाल भी करेंगे।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। पंजीकरण एवं दवा वितरण कक्ष, एक्सरे, आपातकालीन कक्ष, महिला प्रसव कक्ष आदि देखा। उन्होंने बेहतर इलाज देने के निर्देश डाक्टरों को दिए और बाहर से दवाइयां लिखने पर कार्रवाई के संकेत दिए।

अस्पताल में बेहतर साफ-सफाई करने को कहा। उपकरणों की सूची बनाने और धनराशि उपलबध कराने का भरोसा दिया। इस मौके पर एसडीएम योगेंद्र सिंह, तहसीलदार मैनपाल सिंह आदि मौजूद थे।

विशेष