अल्मोड़ा

प्रधानाचार्यों की सीधी भर्ती बंद कर करें पदोन्नति

अल्मोड़ा : राजकीय शिक्षक संघ ने निदेशक विद्यालयी शिक्षा से मिलकर प्रदेश में प्रधानाचार्यों की सीधी भर्ती बंद करने व ग्रेड वेतन में बोनस देने समेत 18 सूत्रीय मांगों पर कार्रवाई करने की मांग की है। संगठन ने कहा है कि इन मांगों को लेकर वे लंबे समय से संघर्ष करते आ रहे हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

 

जिले के शीतलाखेत क्षेत्र के भ्रमण के दौरान यहां पहुंचे निदेशक विद्यालयी शिक्षा आरके कुंवर से शिक्षक संघ के मंडलीय महामंत्री कैलाश डोलिया के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की।

सदस्यों ने निदेशक को बताया कि संगठन एलटी से प्रवक्ता और प्रवक्ता से प्रधानाचार्य पदों पर प्रतिवर्ष पदोन्नति किए जाने, कक्षा नौ से बारह तक शारीरिक शिक्षा का पाठ्यक्रम उपलब्ध कराए जाने, वेतन विसंगति को दूर किए जाने, स्थानांतरण में प्रतिस्थानी की बाध्यता खत्म किए जाने, यात्रा अवकाश की सुविधा दिए जाने, कोटीकरण में सुधार किए जाने, गृह परीक्षाएं फरवरी के द्वितीय सप्ताह में कराए जाने, आंतरिक मूल्यांकन की व्यवस्था किए जाने समेत अनेक लंबित मांगों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। प्रतिनिधिमंडल ने निदेशक से इस संबंध में हस्तक्षेप कर कार्रवाई की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में हीरा सिंह बोरा, कुलदीप कुमार जोशी, भूपाल सिंह चिलवाल आदि मौजूद रहे।शिक्षा निदेशक विद्यालयी शिक्षा आरके कुंवर ने बुधवार को जिले के अलग अलग स्कूलों का दौरा भी किया।

कुंवर ने इस दौरान शीतलाखेत में वर्चुअल कक्षाओं का निरीक्षण किया। भ्रमण के दौरान विद्यालय के प्रधानाचार्य ने शिक्षा निदेशक को स्कूल में पेयजल समस्या के बारे में जानकारी दी जिस पर उन्होंने शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन भी दिया।

इसके अलावा भ्रमण के दौरान द्वारसों में प्रधान व कनिष्ठ सहायक का पद रिक्त होने, रानीखेत, कठपुडिया व द्वारसों में स्थायी प्रधानाचार्य न होने की मुद्दा भी सामने रखा गया। निरीक्षण के दौरान प्रशासनिक अधिकारी वीपीएस रावत, धीरेंद्र कुमार पाठक आदि मौजूद रहे।