देश/प्रदेश

पांच माह बाद ड्यूटी पर लौटे जिला अस्पताल के रेडियोलॉजिस्ट डॉ. प्रदीप बिष्ट

?????????????????????????????????????????????????????????????????????????????

चम्पावत: अल्ट्रासाउंड को लेकर हुए विवाद के चलते जिला अस्पताल में तैनात रेडियोलॉजिस्ट डॉ. प्रदीप बिष्ट ने अपना कंडीशनल इस्तीफा दे दिया था। जिसके करीब पांच माह बाद गुरुवार को डॉ. बिष्ट ने फिर से अस्पताल में ज्वाइन कर अपनी सेवाएं देनी शुरू कर दी है। इससे गरीब मरीजों को अब प्रतिदिन अल्ट्रासाउंड कराने का लाभ मिल सकेगा।

 

बता दें कि जिला अस्पताल में एक मरीज ने रेडियोलॉजिस्ट डॉ. प्रदीप बिष्ट पर समय से अल्ट्रासाउंड न करने का आरोप लगाया था। जिसके चलते विवाद काफी बढ़ गया। सम्मान को ठेस पहुंचने पर डॉ. बिष्ट ने 30 अगस्त 2019 को अस्पताल से अपने को दूर करते हुए विभाग को अपना कंडीशनल इस्तीफा सौंप दिया था।

जिसके बाद वह निजी अस्पताल में प्रेक्टिस करने लगे। उनके अस्पताल छोड़ने के बाद लंबे समय तक अस्पताल में मरीजों को अल्ट्रासाउंड कराने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था।

मरीजों की परेशानी को देखते हुए जिलाधिकारी एसएन पांडे ने सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी को लोहाघाट में कार्यरत रेडियोलॉजिस्ट डॉ. एलएम रखोलिया को सप्ताह में दो दिन जिला अस्पताल में नियुक्त करने के निर्देश दिए थे। सीएमओ के निर्देश के बाद डॉ. रखोलिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोहाघाट और जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ के साथ-साथ गुरुवार व शुक्रवार को अपनी सेवाएं दे रहे थे।

सीएमएस डॉ. आरके जोशी ने कई बार डॉ. बिष्ट को मनाने का प्रयास किया। सेवाएं न देने पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से उन्हें नोटिस भी जारी किया गया। आखिरकार करीब पांच माह बाद डॉ. बिष्ट मान गए और गुरुवार से जिला अस्पताल में उन्होंने अपनी सेवाएं देनी शुरू कर दी।

पहले दिन उन्होंने करीब 50 महिलाओं के अल्ट्रासाउंड दिए। जिसके बाद महिलाओं ने राहत की सांस ली। अब प्रतिदिन महिलाओं को इसका लाभ मिल सकेगा।

विशेष