देश/प्रदेश

पत्तल स्टोर में लगी आग

देहरादून, दर्शनी गेट स्थित राजधानी पत्तल स्टोर में आग लगने से सारा सामान जलकर राख हो गया। 20 सदस्यीय अग्निशमन दल ने कड़ी मशक्कत के बाद 13 घंटे बाद आग पर काबू पाया।

आग बुझाने के लिए दो बड़े दमकल वाहन और दस छोटे वाहन लगाने पड़े। दमकल टीम की मुस्तैदी के कारण आस-पास के घरों को आग से नुकसान नहीं हुआ, जिससे बड़ा हादसा भी टल गया। प्रथम दृष्टया आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।

रविवार सुबह करीब छह बजे आसपास के लोगों ने राजधानी पत्तल स्टोर से धुंआ निकलते देखा तो उन्होंने पत्तल स्टोर के स्वामी आशीष सिंघल को सूचना दी। इस बीच पत्तल स्टोर में नीचे दुकान और ऊपर गोदाम होने के कारण आग भड़कने में ज्यादा समय नहीं लगा। दुकान और गोदाम में प्लास्टिक, कागज और पत्ते से बने सामान, शादी की मालाएं, फिनाइल की बोतलें आदि रखी हुई थीं।

सूचना पर आशीष सिंघल तत्काल मौके पर पहुंचे और उन्होंने इसकी सूचना दमकल को दी। सूचना पर दमकल टीम मौके पर पहुंची, लेकिन पत्तल स्टोर संकरी गली में होने के कारण दमकल वाहन स्टोर तक नहीं पहुंच पाए। वाहनों को गली के बाहर खड़ा कर पानी के पाइपों को दुकान तक पहुंचाया और दुकान में लगी आग बुझाने की कार्रवाई शुरू की। लेकिन दुकान के ऊपर बने गोदाम में आग अचानक भड़क गई।

गोदाम तक जाने का रास्ता दमकल कर्मियों को नहीं मिल पाया तो जेसीबी के माध्यम से दुकान के सामने की दीवार को तोड़कर गोदाम में लगी आग बुझाने की कार्रवाई शुरू की गई।

अग्निशमन अधिकारी अर्जुन सिंह रांगड़ ने बताया कि दुकान और गोदाम में प्लास्टिक और कागज के डिस्पोजल आइटम और फिनाइल की बोतलें बड़ी मात्रा में रखी हुई थीं, जिससे पानी डालने के बाद भी आग अंदर-अंदर सुलगती रही। इससे आग बुझाने में करीब 13 घंटे लग गए। दमकम कर्मियों ने शाम सात बजे आग पर काबू पाया।

अग्निशमन अधिकारी अर्जुन सिंह रांगड़ ने बताया पत्तल स्टोर में लगी आग से आसपास के घरों को भी नुकसान पहुंच सकता था। इसलिए उन्हें सतर्कता बरतने और अपना कीमती सामान सुरक्षित जगह ले जाने को कहा गया। लेकिन दमकल टीम की मुस्तैदी के कारण आग को भड़कने नहीं दिया गया और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। जिससे आसपास के घरों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

अग्निशमन अधिकारी ने बताया कि पत्तल स्टोर में अग्नि सुरक्षा के उपकरण भी नहीं थे। न ही वेंटिलेशन की कोई व्यवस्था थी। आग लगने का कारण प्रथम दृष्टया शार्ट सर्किट होना पाया गया है।

विद्युत पोल में आग से कई घरों की बत्ती गुल

प्रेमनगर के राघव विहार स्मिथनगर तिराहे पर रविवार की सुबह विद्युत पोल में शार्ट-सर्किट से आग लग गई। इसके चलते इलाके के कई घरों में बत्ती गुल हो गई।

स्थानीय लोगों का कहना है कि जब घटना की जानकारी मोहनपुर विद्युत उपकेंद्र को दी गई तो बताया गया कि सुबह की ड्यूटी वाले कर्मचारियों के आने के फाल्ट ठीक होगा। दोपहर बाद कर्मचारियों ने फाल्ट ठीक कर दिया।

रविवार सुबह राघव विहार में विद्युत पोल पर अचानक आग लग गई। इससे आसपास अफरातफरी मच गई और स्थानीय लोगों ने तुरंत मोहनपुर विद्युत उपकेंद्र को सूचना दी। विद्युत आपूर्ति तो बंद कर दी गई, लेकिन उन्हें बताया गया कि जल्द ही लाइन ठीक करा दिया जाएगा। स्थानीय नागरिक वीरू बिष्ट ने बताया कि लोगों ने अपने प्रयास से आग पर काबू पाया, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।

इस संबंध में जल्द ही अधिशासी अभियंता सुधीर कुमार को ज्ञापन देकर मांग की जाएगी कि मोहनपुर डिवीजन में रात के समय के लिए कॉल सेंटर की व्यवस्था की जाए। ताकि क्षेत्रवासियों को रात व सुबह के समय हो रही बिजली परेशानी से निजात मिल सके।

नहीं हटाए तारों के गुच्छे

प्रेमनगर के कई खंभों पर तारों के गुच्छे लटक रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि अधिकारियों के आदेश के बाद भी खंभों से तारों के गुच्छों को नहीं हटाया जा रहा है। वहीं, केबल ऑपरेटरों द्वारा जगह-जगह खंभों पर गुच्छे बनाकर तार को लपेटा गया है, जिसकी वजह से आए दिन कोई ना कोई हादसा हो जाता है।

 

विशेष