देश/प्रदेश

नेपाल सीमा पर लोगों ने बीएसएनएल के खिलाफ किया प्रदर्शन

जौलजीवी: नेपाल सीमा पर बारह दिन बाद एक दिन के लिए चली बीएसएनएल की सेवा फिर से बंद हो चुकी है। सेवा बंद होने से नाराज उपभोक्ताओं ने बीएसएनएल के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए पुतला फूंका। इस अवसर पर निजी संचार कंपनियों की सेवा उपलब्ध कराने की मांग की गई।

 

नेपाल सीमा पर विगत एक पखवाड़े से संचार सेवा ठप है। सीमा पर के वल बीएसएनएल की संचार सेवा भर है। बीएसएनएल की सेवा कभी कभार ही मिल पाती है। एक पखवाड़े से बाधित सेवा बुधवार को चली, परंतु गुरु वार को आते ही फिर खराब हो गई। संचार सेवा बंद होते ही उपभोक्ता उत्तेजित हो गए।

व्यापार संघ अध्यक्ष धीरेंद्र धर्मशक्तू के नेतृत्व में व्यापारियों और उपभोक्ताओं ने बीएसएनएल के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए पुतला फूंका। इस मौके पर नेपाल सीमा पर निजी संचार कंपनियों के टावर लगाने की मांग की गई।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि यदि दो दिन के भीतर सेवा सुचारू नहीं हुई और निजी कंपनियों के टावर लगाने की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं हुई तो जनता भारत नेपाल को जोड़ने वाले अंतरराष्ट्रीय झूला पुल पर ताला बंदी और टनकपुर-तवाघाट हाईवे पर चक्का जाम करेंगे।

प्रदर्शन करने वालों में व्यापार संघ उपाध्यक्ष राजेंद्र बुर्फाल, कोषाध्यक्ष जाहिद हुसैन, जानकी बुर्फाल, पूर्व जिपं सदस्य अमर बहादुर चंद, आरिफ अहमद, हरीश पोखरिया, सुरेंद्र बूढ़ाथौकी पेंथर जंग सहित अन्य शामिल थे।

लाइन में आई फॉल्ट का पता लगाया जा रहा है। हाईवे चौड़ीकरण के दौरान ओएफसी लाइन कट जाती हैं। विभाग की टीम इसमें जुटी है। सेवा जल्दी बहाल हो जाएगी। टीम पता लगाकर लाइन जोड़ रही हैं।

विशेष