देश/प्रदेश

नागणी में तीन साल बाद भी नहीं बना कोल्ड स्टोर

चंबा: हेंवलघाटी के नागणी में तीन साल बीतने के बाद भी कृषि उपज संग्रह केंद्र एवं मिनी कोल्ड स्टोर का निर्माण नहीं हो पाया है। करीब 90 लाख रुपये की योजना फाइलों में ही कैद होकर रह गई है। ग्रामीण योजना पर काम होने का इंतजार कर रहे हैं।

जनपद की हेंवलघाटी के नागणी में तीन साल पहले जिस कृषि उपज संग्रह केंद्र एवं मिनी कोल्ड स्टोर का निर्माण करने की योजना स्वीकृत हुई थी, उस पर काम आज तक नहीं हो पाया है। करीब 90 लाख रुपये की योजना फाइलों में ही कैद होकर रह गई है, वह धरातल पर नहीं उतर पाई है। क्षेत्र के किसान योजना का निर्माण होने का इंतजार कर रहे हैं।

यह योजना तीन साल पहले मंडी परिषद की ओर से स्वीकृत हुई थी, जिससे क्षेत्र में नकदी फसलें उगाने वाले काश्तकार खुश हो गए थे

उन्हें लगा था कि उनके उत्पाद विक्रय होने में अब आसानी होगी। जिन्हें अपने उत्पादों को बाजार तक पहुंचाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, उन्हें सुविधा मिलेगी। योजना में मंडी परिषद को एक गोदाम, कार्यालय और उसके साथ ही मिनी कोल्ड स्टोर बनाना था।

गोदाम में सीजन में उगाने वाले कृषि उत्पादों का संग्रह किया जाना था और उसके बाद उन्हें बाहर बाजारों में बेचने के लिए भेजे जाने की योजना थी। हेंवलघाटी कृषि के अच्छे उत्पादन के लिए जानी जाती है। पिछले कुछ साल से यहां के लोग नकदी फसलें अधिक उगा रहे हैं, लेकिन उन्हें अपने उत्पादों को बाजार बेचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता रहा है। कोल्ड स्टोर बनाने की मांग भी लोग लंबे समय से कर रहे थे।

ग्राम प्रधान जड़धार गांव प्रीति जड़धारी, क्षेत्र पंचायत सदस्य सुखपाल सिंह, विक्रम सिंह, विनोद सिंह आदि का कहना है कि योजना के अनुसार काम हो जाता, तो क्षेत्र के किसानों को लाभ होता और वे अपने उत्पादों को आसानी से बेच पाते, लेकिन मामला जस का तस है।

-नागणी में कृषि उपज संग्रह केंद्र एवं मिनी कोल्ड स्टोर के लिए धनराशि तीन साल पहले स्वीकृत हो गई थी, लेकिन उन्हें बनाने के लिए अभी तक जगह उपलब्ध नहीं हो पाई है। जैसे ही जगह उपलब्ध होगी, निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

 

विशेष