देश/प्रदेश

दो जोरदार बम धमाके से दहला पटना

पटना: पटना के गांधी मैदान इलाके में सोमवार की सुबह आठ बजे एक मकान में जोरदार बम विस्फोट हुआ, विस्फोट में सात लोग घायल हो गए हैं, जिसमें से दो की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

घटना में दो घर पूरी तरह से ध्वस्त हो चुके हैं। सभी घायलों का इलाज पीएमसीएच में कराया जा रहा है। धमाका इतना जोरदार था कि धमाके की गूंज कई किलोमीटर तक सुनाई दी।

 

सिलिंडर ब्लास्ट या बम फटा, पुलिस-पब्लिक में ठनी

इस मामले में सिटी एसपी का कहना है कि हो सकता है घर में रखा छोटा सिलिंडर फट गया होगा, जांच की जा रही है कि बम विस्फोट था या सिलिंडर ब्लास्ट किया है। पुलिस ने गैस सिलिंडर कहा है, जबकि धमाका बेडरूम में हुआ है।

बाथरूम-टॉयलेट बेडरूम से अटैच हैं, जबकि सिलिंडर और चूल्हा किचन में रखा है और सही सलामत है। वहीं, गैस सिलेंडर फटेगा तो कमरे में आग लग जायेगी। आग नहीं लगी है।

 

एसएसपी का कहना है कि कल रात में गैस सिलेंडर लीक हो गया होगा। कमरे में गैस भर गई होगी। सुबह जब बैजनाथ की पत्नी ने चाय बनाने के लिए गैस जलाई होगी, तभी यह हादसा हुआ।

लेकिन घटनास्थल के हालात ऐसा कुछ बयान नहीं कर रहा। न तो कमरे में आग लगी है। न ही विस्फोट की गन्ध है। न ही कहीं विस्फोट होने का कोई दाग ही मिला है। वहीं, सिलिंडर ब्लास्ट होता है तो कमरे में लोहे के चदरा मिलता, लेकिन एेसा नहीं है।

 

ऐसा भी माना जा रहा है दीवार के पास विस्फोटक पदार्थ रखा गया हो। दीवार ईंट ईंट बिखर गया है। गोदरेज का आलमारी बगल के मकान में जा गिरा है। 200 मीटर तक धमाके की आवाज आई। आस पास के करीब 6 मकान की खिड़की टूट चुकी है।

 

दरअसल बैजनाथ अॉटो चलाता है और उसके ऑटो में कल रात उसे एक बैग मिला था। वह बैग लेकर घर आ गया था। सुबह जब उसने बैग खोला, उसके बाद यह घटना घटी है। हालांकि इसकी पुष्टि पुलिस अधिकारी नहीं कर रहे हैं।

 

वहीं, स्थानीय लोगों ने एक सुर में कहा कि पुलिस साफ तौर पर झूठ बोल रही है। सिलिंडर फटता तो आग लगती, बदबू आती, लेकिन सिलिंडर का कोई अवशेष नहीं मिला है, ना ही आग लगने जैसी कोई बात है। ये बड़े बम विस्फोट की घटना है, लोग जिसतरह से घायल हैं, उससे साफ लग रहा है कि बम विस्फोट हुआ है सिलिंडर ब्लास्ट नहीं।

जानकारी के मुताबिक पटना के गांधी मैदान के सालिमपुर अहरा के गली नंबर एक स्थित एक घर में दो बार बम विस्फोट होने की घटना से इलाके के लोग दहशत में है। जिस घर में विस्फोट हुआ है, उसका मुखिया बैजनाथ महतो हैं। घर में बैजनाथ की मां अंजली देवी, पत्नी रेखा, बेटी माही, मनीषा,  बेटा अंश रहते थे।

विस्फोट के बाद सभी घायल हैं, जिसमें अंजली देवी और एक बच्ची की हालत नाजुक बतायी जा रही है। इसके साथ ही एक किराएदार तारकेश्वर पांडेय भी घायल है।

आसपास के लोगों ने बताया कि अहले सुबह आंख खुलते ही लोग अपने काम में लगे थे कि जोरदार धमाका हुआ जिससे उन्हें लगा कि भूकंप आ गया हो।

फिर शोरगुल मचा कि गैस सिलिंडर विस्फोट कर गया है। लेकिन, फिर दोबारा धमाका होने के बाद लोग घरों से बाहर निकल आए और देखा तो पास का घर पूरी तरह से ध्वस्त हो चुका था।

आनन-फानन में लोगों ने घर के अंदर घायल पड़े लोगों को पीएमसीएच में भर्ती कराया है। घटना में सात लोग बुरी तरह से घायल हैं, जिसमें एक वृद्धा सहित एक व्यक्ति की हालत गंभीर बनी हुई है। मौके पर तुरंत कोतवाली थाने की पुलिस पहुंची और जांच के बाद बताया कि घर में रखा बम फटा है जिससे ये घटना हुई है। पुलिस जांच कर रही है। एफएसएल की टीम पहुंच गई है और जांच-पड़ताल में लगी है।

लोगों ने बताया कि इस मकान में एक किराएदार रहता है वो अॉटोरिक्शा चलाता है। इस मकान की मालकिन नीतू देवी ने बताया कि उनके घर में किराएदार पिछले दो महीने से रह रहा था। किराएदार के बारे में मकानमालिक को भी कोई खास जानकारी नहीं है। आसपास घनी आबादी है, दो मकान ध्वस्त हो चुके हैं।

विशेष