देश/प्रदेश

देहरादून के मोहनपुर में तीन दिन से पानी के लिए हाहाकार

देहरादून,  प्रेमनगर क्षेत्र से सटे मोहनपुर और आसपास के इलाकों में पिछले तीन दिन से पानी को हाहाकार मचा हुआ है। क्षेत्र की मिनी ट्यूबवेल की मोटर फुंकने के चलते यहां रविवार रात को सप्लाई बाधित हो गई थी, तमाम कोशिशों के बावजूद तक भी पेयजल सप्लाई पूर्ण रूप से सुचारू नहीं हो सकी। जल संस्थान के अधिकारियों ने गुरुवार सुबह तक आपूर्ति सामान्य कराने का दावा दिया है।

 

मोहनपुर और आसपास के क्षेत्रों में करीब 600 परिवार तीन दिन से पानी को तरस रहे हैं। क्षेत्रवासियों में जल संस्थान के प्रति रोष है और गुरुवार को भी आपूर्ति सुचारू न होने पर विभागीय कार्यालय पर तालाबंदी की चेतावनी दी है। क्षेत्रीय निवासी बीरू बिष्ट, फूल सिंह, बुदई राम, अशोक कुमार, दिनेश भट्ट आदि ने बताया कि मोहनपुर स्थित मिनी ट्यूबवेल की मोटर बीते रविवार की रात को फुंक गई। जिसके चलते सोमवार को सुबह और शाम के समय पानी की आपूर्ति ठप रही।

शिकायत के बाद देर शाम जल संस्थान के कर्मचारी मौके पर पहुंचे, लेकिन तमाम प्रयासों के बावजूद मोटर ठीक नहीं हो सका। हालांकि, विभागीय अधिकारियों ने जल्द मोटर दुरुस्त करने और तब तक टैंकर से पानी मुहैया कराने का आश्वासन दिया था। क्षेत्रवासियों का आरोप है कि इसके बाद मंगलवार को भी नलकूप से पानी नहीं चल सका और ओवरहेड टैंक खाली रहा। बुधवार को जल संस्थान की टीम ने नलकूप को दुरुस्त तो कर दिया, लेकिन इससे पानी बेहद कम मात्रा में टैंक में चढ़ रहा है। जिससे अधिकांश इलाकों में लो प्रेशर की समस्या बनी हुई। जबकि, कई स्थानों पर अभी भी सप्लाई सुचारू नहीं हो पाई है।

 

स्थानीय लोगों ने चेतावनी दी है कि गुरुवार को समस्या का समाधान न होने की स्थिति में जल संस्थान कार्यालय पर तालाबंदी कर अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की जाएगी। उधर, जल संस्थान के अधिशासी अभियंता राजेंद्र पाल का कहना है कि क्षेत्र में नलकूप खराब होने की सूचना समय पर नहीं दी गई थी, शिकायत मिलने में विभाग के कर्मचारी मौके पर गए और नलकूप को दुरुस्त करने का प्रयास किया। हालांकि, इससे में समय अधिक लग गया, लेकिन क्षेत्रवासियों की समस्या को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था भी की गई। गुरुवार को सप्लाई सुचारू हो जाएगी।

 

इन क्षेत्रों में के परिवार परेशान

 

मोहनपुर, नहरवाली गली, स्मिथनगर, सरिता विहार, राघव विहार, रुद्र एनक्लेव, चौबे एनक्लेव, गडरिया महोल्ला आदि क्षेत्रों के करीब 600 परिवार पेयजल समस्या से जूझ रहे हैं।

 

आमवाला तरला बस्ती के लोगों ने नगर निगम में किया प्रदर्शन

 

आमवाला तरला बस्ती हटाने के विरोध में बस्ती वासियों ने कांग्रेसियों के साथ नगर निगम में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने नगर आयुक्त को चेतावनी दी कि अगर निगम ने वर्षों पुरानी बस्ती को हटाने की कार्रवाई की तो इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा।

 

बुधवार को पूर्व विधायक व अनुसूचित जाति जन जाति प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस राजकुमार के नेतृत्व में बस्ती वासी नगर निगम पहुंचे। वहां उन्होंने नगर आयुक्त के समक्ष विरोध जताया। उन्होंने कहा कि नगर निगम की टीम बस्ती को हटाने को लिए  आमवाला तरल पहुंची थी। विरोध करने पर उन्होंने कार्रवाई नहीं की। पूर्व विधायक ने कहा कि बस्ती वासी वर्षों से यहां निवास कर रहे हैं। उनके पास बिजली-पानी बिल भी है। उसके बाद भी बस्ती को तोड़ने की साजिश की जा रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ऐसा होने नही देगी। पूर्व विधायक राजकुमार ने बताया कि नगर आयुक्त ने कहा कि नगर निगम ऐसी कोई कार्रवाई नही कर रहा है। प्रदर्शन करने वालों में कांग्रेस महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा, पार्षद डॉ. विजेंद्र पॉल, जगदीश धीमान, पार्षद निखिल कुमार, देविका रानी, अजुर्न सोनकर, अमीचंद्र, नागेश रतूड़ी, पूर्व पार्षद रीता रानी, देवेंद्र कौर, सोम वाल्मीकि, लेखराज आदि शामिल थे।

विशेष