देश/प्रदेश

दिल्‍ली में वोटिंग के आकड़े जारी नहीं करने पर पर खड़ा हुआ बवाल

नई दिल्‍ली, दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को मतदान हो चुका है। 11 फरवरी को नतीजे आएंगे। नतीजों से पहले आम आदमी पार्टी (आप) ने चुनाव आयोग पर हमला बोला है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर मतदान फीसद में देरी पर सवाल उठाया। वहीं, आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने भी फाइनल फीसद जारी न होने पर गड़बड़ी करने की आशंका जताई है।

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि चुनाव आयोग क्या कर रहा है? मतदान के घंटों बाद भी चुनाव आयोग मतदान फीसद जारी क्यों नहीं कर रहा है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भाजपा पर निशाना साधा है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भाजपा के नेता मतदान के आंकड़े दे रहे हैं। वहीं चुनाव आयोग मतदान खत्म होने के घंटों बाद तक नही बता पाया कि मतदान कितने फीसद हुआ है।

उधर, संजय सिंह ने आशंका जताई है कि अंदर ही अंदर कोई खेल चल रहा है। उन्होंने कहा कि 70 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ होगा कि चुनाव आयोग यह बताने को तैयार नहीं कि कितने फीसद मतदान हुआ।

इसका मतलब कहीं कुछ दाल में काला है, अंदर ही अंदर कोई खेल चल रहा है। चुनाव आयोग मतदान प्रतिशत की घोषणा करने के लिए तैयार नहीं है। यह गहरी साजिश की ओर इशारा कर रहा है। चुनाव आयोग को बताना चाहिए कि अभी तक उसने मतदान फीसद की घोषणा क्यों नहीं की है। संजय सिंह ने कहा कि मतदान प्रतिशत बताने की कोई लंबी-चौड़ी प्रक्रिया नहीं है। सरकारी अधिकारी मतदान समाप्त होने के पश्चात उसके बूथ पर कितना मतदान हुआ, उसकी जानकारी चुनाव आयोग को भेज देते हैं।

सभी अधिकारियों की ओर से बताई गई जानकारी को जोड़कर चुनाव आयोग मतदान फीसद का एलान कर देता है। पूरे देश में जब लोकसभा चुनाव होते हैं, उसका मतदान फीसद चुनाव आयोग बता देता है, परंतु दिल्ली की मात्र 70 विधानसभा क्षेत्रों में हुए मतदान का फीसद बताने को चुनाव आयोग तैयार नहीं है।

मतगणना से पहले ईवीएम को लेकर फिर से चर्चा शुरू हो गई है। आप को आशंका है कि कहीं ईवीएम के साथ छेड़छाड़ न हो जाए। इसको लेकर आप ने विधायकों और कार्यकर्ताओं को स्ट्रांग रूम के बाहर तैनात कर दिया है।

शनिवार देर शाम ईवीएम की सुरक्षा को लेकर आप नेताओं के साथ केजरीवाल ने बैठक भी की थी। आप नेता गोपाल राय भी आशंका जता रहे हैं कि ईवीएम में छेड़छाड़ की जा सकती है। इसलिए स्ट्रांग रूम के बाहर विधायक और कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे।

विशेष