देश/प्रदेश

डॉ. कौशल कुमार दूसरी बार बने अभाविप के प्रदेश अध्यक्ष

देहरादून,अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के 20वें प्रांत अधिवेशन के अंतिम दिन डॉ. कौशल कुमार को दोबारा प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई। दोबारा अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने नई कार्यकारिणी की घोषणा की।

 

कार्यकारिणी में अभाविप के प्रदेशभर के सक्रिय कार्यकर्ताओं को जगह दी गई है। कार्यकारिणी में एमकेपी कॉलेज की शिक्षक डॉ. ममता सिंह समेत तीन लोगों को प्रदेश उपाध्यक्ष, सात को महामंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके अलावा गढ़वाल व कुमाऊं से छात्र-छात्राओं का बराबर का संतुलन रखा गया है।

कृषि स्वरोजगार से रुकेगा पलायन

 

अभाविप के प्रांत अधिवेशन के अंतिम दिन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचारक आलोक कुमार ने ‘उत्तरांचल की चुनौतियों एवं समाधान हेतु हमारी भूमिका’ विषय पर चर्चा सत्र में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

कहा कि हिमालयी राज्यों विशेष रूप से उत्तराखंड का महत्व बहुत अधिक है। नीति निर्धारकों को पलायन रोकने के लिए कृषि से जुड़े स्वरोजगार को अपनाने पर जोर देना होगा।

उन्होंने कहा कि सरकारी व प्राइवेट नौकरी की मानसिकता ने पहाड़ में जनसंख्या संतुलन को बिगाड़ा है और काफी हद तक पलायन के लिए यही सबसे बड़ा कारण है।

इसके बाद दूसरे सत्र में ‘जिज्ञासा समाधान’ विषय पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री श्रीनिवास ने छात्र-छात्राओं के प्रश्नों के उत्तर दिए।

विशेष