देश/प्रदेश

झाला-हर्षिल के बीच तीन स्थानों पर टूटे हिमखंड

उत्तरकाशी,झाला और हर्षिल के बीच तीन स्थानों पर भारी हिमखंड टूटकर आने से गंगोत्री हाइवे बंद हो गया। सात घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) इन हिमखंडों को काटकर हाइवे सुचारु कर पाया। इस बार हर्षिल घाटी में माकूल हिमपात ने कई हिमखंड बना दिए हैं। जो कई बार टूटकर गंगोत्री हाइवे पर आ जा रहे हैं।

 

जिला मुख्यालय उत्तरकाशी से 70 किमी गंगोत्री की ओर सुक्की से लेकर गंगोत्री तक सात से अधिक स्थानों पर हिमखंड आने का खतरा बना हुआ है। चांगथांग के पास तो बीते दस वर्षों के अंतराल में सबसे बड़ा हिमखंड आया हुआ है। यहां पर बीआरओ की टीम ने हिमखंड को काटकर सड़क तो खोल दी, लेकिन अभी भी यहां हिमखंड के टूटने का खतरा बना हुआ है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि गुरुवार सुबह साढ़े नौ बजे के आसपास झाला और हर्षिल के बीच बकरिया उडियार के पास भारी-भरकम हिमखंड टूटकर आ गया। कुछ ही देर बाद हाइवे पर दो और हिमखंड आ गिरे। इसके चलते शाम साढ़े चार बजे तक हाइवे बंद रहा। बताया कि बीआरओ की टीम ने हिमखंड काटकर हाइवे को सुचारु कर दिया है। इस बार अधिक बर्फबारी होने के कारण हिमखंडों के टूटने का खतरा अधिक बना हुआ है।

विशेष