देश/प्रदेश

जिला चिकित्सालय में प्रसूता की मौत पर डीडीहाट में उबाल

डीडीहाट: पिथौरागढ़ जिला महिला चिकित्सालय में प्रसव के बाद हुई महिला की मौत पर मृतक के गृह क्षेत्र डीडीहाट में लोगों में जबरदस्त आक्रोश फैल गया है। उत्तराखंड क्रांति दल (उक्रांद) व कांग्रेस ने चिकित्सालय स्टॉफ पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। साथ ही मामले के उच्चस्तरीय जांच की मांग की।

 

गुरुवार को उक्रांद व कांग्रेस कार्यकर्ता नगर के गांधी चौक में एकत्रित हुए। इस दौरान उन्होंने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जिला महिला चिकित्सालय में विगत एक माह में चार महिलाओं की मौत हो चुकी है।

विगत तीन फरवरी को जिला महिला चिकित्सालय में डीडीहाट के पमस्यारी निवासी नेहा बोरा (28) की प्रसव के बाद मौत हो गई थी। मृतक महिला पूर्व राज्य आंदोलनकारी स्व. जोध सिंह बोरा की बहु थी।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि महिला चिकित्सालय में प्रसव के दौरान महिलाओं की मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है और भाजपा सरकार इस ओर चुप्पी साधे बैठी हुई है। इसके चलते गर्भवती महिलाओं व उनके परिजनों में भय पैदा हो रहा है।

महिला चिकित्सालय में भारी लापरवाही की जा रही है। इसकी जांच की जानी चाहिए। प्रर्दशनकारियों ने महिला चिकित्सालय में नियमित अल्ट्रासाउंड की व्यवस्था करने, मामले की उच्च स्तरीय जांच करने व दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

प्रदर्शन करने वालों में राजेंद्र बोरा, शेर सिंह शाही, कृपाल मेहरा, गोविंद बोरा, गोविंद टम्टा, हीरा बोरा, कैलाश खोलिया, प्रकाश, पूरन, रवि, माही, हरीश, नवीन, प्रवीन, रतन गिरी गोस्वामी आदि शामिल थे।

विशेष