देश/प्रदेश

जंगली जानवरों के आतंक से किसान बेहाल

दन्यां: विकासखंड धौलादेवी के अन्तर्गत अनेक गांवों में जंगली जानवरों के आतंक से काश्तकार खासे परेशान हो गए हैं।

सुअरों और बंदरों के आतंक से परेशान यहां के किसानों का खेतीबाड़ी के कार्यो से मोह भंग होने लगा है। क्षेत्र के तमाम काश्तकारों ने प्रशासन और वन विभाग से जंगली जानवरों के आतंक से निजात दिलाने की गुहार लगाई है।

विकासखंड धौलादेवी के अन्तर्गत दर्जनों गांवों में आजकल दिन में बंदरों का आतंक है तो रात को सुअरों का दल उनकी गाढ़ी मेहनत से उगाई हुई फसल को तहस नहस कर रहा है।

ग्राम पंचायत कलौटा, आरासलपड़, मेलगांव, काभड़ी, दन्यां, आटी, बेलक, सुकना, गौली सहित दर्जनों गांवों में जंगली जानवरों के आतंक के चलते किसानों का खेतीबाड़ी से मोह भंग होने लगा है।

जंगली जानवर खेतों में खड़ी फसल को बर्बाद करने के साथ साथ घरों के आस पास उगाई हुई सब्जियों और पेड़ों में लगे हुए फलों को भी चट कर रहे हैं।

प्याज, लहसुन, गडेरी, धनिया, पालक आदि को दिन में बंदरों की टोली आकर बर्बाद कर रही है। धौलादेवी विकासखंड के विभिन्न गांवों के काश्तकारों ने जानवरों द्वारा नष्ट की गई फसल का मुआवजा प्रदान करने की मांग भी प्रशासन से की है।

विशेष