देश/प्रदेश

गुरना प्राथमिक विद्यालय की बेहतर शिक्षण व्यवस्था से प्रभावित हुए शिक्षा मंत्री

पिथौरागढ: प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय सीमांत जिले के आदर्श प्राथमिक विद्यालय गुरना की शिक्षण व्यवस्था से खासे प्रभावित हुए हैं। उन्होंने विद्यालय के पांच बच्चों के सैनिक स्कूल घोड़ाखाल की प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर खुशी जताते हुए शिक्षा विभाग से इस विद्यालय का ब्यौरा मंगाया गया है।

 

जिला मुख्यालय से 15 किमी दूर आदर्श प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को कॉन्वेंट स्कूली जैसी शिक्षा दी जा रही है। विद्यालय में हर वह संसाधन उपलब्ध हैं, जो एक अच्छे कॉन्वेंट स्कूल में होते हैं। विद्यालय में गरीबों परिवारों के बच्चों से लेकर शिक्षाधिकारियों, शिक्षकों के बच्चे एक छत के नीचे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। विद्यालय में छात्रसंख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है।

यह सब विद्यालय के प्रधानाध्यापक सुभाष चंद्र जोशी के अथक प्रयासों से ही संभव हुआ है। जिसका परिणाम है कि आज इस विद्यालय के बच्चे सैनिक स्कूल, नवोदय विद्यालय आदि प्रतिष्ठित परीक्षाओं में सफलता के झंडे गाड़ रहे हैं।

अब प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय भी इस विद्यालय की शिक्षण व्यवस्था के कायल हो गए हैं। उन्होंने शिक्षा विभाग से इस विद्यालय का ब्यौरा देने को कहा है। जिसमें विद्यालय के अध्यापकों का विवरण, विद्यालय की पूर्व व वर्तमान की स्थिति, नवाचारी शिक्षा, छात्रसंख्या आदि की जानकारी पूछी गई है।

गुरना प्राथमिक विद्यालय के पांच बच्चों का सैनिक स्कूल घोड़ाखाल के लिए चयन होने पर शिक्षा मंत्री कार्यालय से गुरुवार को फोन पर विद्यालय का विवरण मांगा गया। फोन पर विद्यालय के बारे में मौखिक जानकारी दे दे गई है। लिखित रू प से भी विद्यालय का ब्यौरा शिक्षा मंत्री कार्यालय को भेजा जा रहा है।

विशेष