देश/प्रदेश

कैनाल रोड लकड़ी के टाल में लगी आग

जम्मू्, कैनाल रोड के गोल पुली इलाके में स्थित लकड़ी के टाल में आज तड़के संदिग्ध परिस्थितियों में लगी आग में एक दमकल कर्मी की मौत हो गई जबकि दो अभी भी मलवे में फंसे हुए हैं।

दरअसल टाॅल में बनी तीन मंजिला इमारत आग बुझाते समय ताश के पत्तों की तरह ढह गई आैर इसकी चपेट में नौ लोग आ गए। हालांकि छह लोगों जिनमें दो दमकल कर्मी भी मौजूद थे, को वहां मौजूद पुलिस जवानों व आपदा प्रबंधन टीम के सदस्य ने बचा लिया परंतु तीन कर्मी मलवे में ही फंस गए।

पुलिस ने एक कर्मी की मौत की पुष्टि कर दी है जबकि दो अन्य कर्मियों की तलाश अभी भी की जा रही है। मारे गए दमकल कर्मी की पहचान 32 वर्षीय विमल रैना पुत्र मनोहर कृष्णा रैना निवासी जानीपुर के तौर पर हुइ है। वह रूपनगर फायर ब्रिगेड कार्यालय में तैनात थे।

पुलिस के अनुसार यह हादसा तड़के करीब साढ़े चार बजे पेश आया। कैनाल रोड के गोल पुली इलाके में स्थित लकड़ी के टाल में अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग फैल गई।

गनिमत यह थी कि लकड़ी के टाल में बनी दो मंजिला रिहायशी इमारत में रहने वाले लोगों को समय रहते इसका पता चल गया। वह बिल्डिंग से बाहर निकल आए और दमकल विभाग को इसकी सूचना दे दी।

कुछ ही मिनटों पर वहां पहुंचे दमकल विभाग के कर्मियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास शरू कर दिया। बिल्डिंग में लगी आग को बुझाने के लिए करीब छह से सात दमकल कर्मी अंधर घुसे। करीब दो मंजिला यह बिल्डिंग इस दौरान ताश के पत्तों की तरह ढह गई और इसमें सभी दमकल कर्मी फंस गए।

पुलिस व आपदा प्रबंध के सदस्यों की मदद से मलवे में फंसे छह लोग को सुरक्षित निकाल लिया गया है। इनमें चार स्थानीय लोग व दो दमकल विभाग के कर्मी शामिल हैं। इनकी पहचान पूरन सिंह पुत्र ज्ञान सिंह निवासी पलांवाला, सतपाल पुत्र कृष्ण लाल निवासी सुंदरबनी दोनों दमकल विभाग के कर्मी हैं।

इनके अलावा जिन स्थानीय लोगों को सुरक्षित निकाला गया उनमें लोकेश पुत्र कृष्ण लाल, अमिल पुत्र रमेश, गुरप्रीत सिंह पुत्र देवेंद्र सिंह, राहिल पुत्र रवि कांत सभी निवासी तालाब तिल्लो के तौर पर हुई है। इन भी घायलों को राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दमकल विभाग के अनुसार मलवे में दबे एक कर्मी की मौत हो गइ है जबकि दो अन्य अभी भी मलवे में दबे हुए हैं। उन्हें निकालने का प्रयास किया जा रहा है। डिवीजनल फायर आफिसर विजय भट ने बताया कि बिल्डिंग में फंसे स्थानीय लोगों को बचा लिया गया है।

उन्होंने बताया कि लकड़ी के टाल में बनाई गई यह इमारत नियमों का उल्लंघन कर बनाई गई है। टाल में कंक्रिट की इमारत नहीं होनी चाहिए। टीन के शेड होने चाहिए। यह टाल रमेश लाल चौधरी का बताया जा रहा है।

मलवे में फंसे दो अन्य दमकल कर्मियों को बचाने के लिए पठानकोट से राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की टीम पहुंच चकी है। माैके पर एसएसपी जम्मू श्रीधर पाटिल सहित पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद हैं।

विशेष