टिहरी

किसानों को मुसीबत बना नया खरपतवार

चंबा: नागणी क्षेत्र में तेजी से फैल रहे एक नये खरपतवार ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। धनिया के पौधे से मिलता-जुलता यह खरपतवार खेतों में उग रहा है,जिससे फसल प्रभावित हो रही है। किसानों ने इस खरपतवार के उन्मूलन की मांग कृषि विभाग व वैज्ञानिकों से की है।

बीज बचाओ आंदोलन के संयोजक विजय जड़धारी ने बताया कि कि इस तरह के नये खरपतवार बाहर से लाए गए सब्जी के बीजों के साथ आते हैं। इसलिए बीज बुआई के समय सावधानी बरतनी चाहिए। उनका कहना है कि कृषि वैज्ञानिक इनकी जांच कर उसका उन्मूलन करें।

वहीं सहायक कृषि अधिकारी डीपी सेमल्टी का कहना है कि कुछ खरपतवार किसान के मित्र भी होते हैं और वे फसलों को उगाने में सहायक होते हैं। यदि नागणी क्षेत्र में इस तरह का कोई नया खरपतवार उग रहा है तो खेतों में जाकर उसका निरीक्षण किया जाएगा और उसके बाद ही किसानों को उचित परामर्श दिया जायेगा।

इसको लेकर औद्यानिकी एवं वानिकी विवि रानीचौंरी परिसर के वैज्ञानिक डॉ. राजेश बिजल्वाण का कहना है कि खरपतवार को देखने व उसकी जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि वह किस प्रकार का खरपतवार है और किसानों को उससे क्या नुकसान हो रहा है।