देश/प्रदेश

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को निलंबित करने के आदेश

रुद्रप्रयाग: गर्भवती को मातृ वंदना योजना के तहत नहीं जोड़ने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को डीएम ने सस्पेंड करने के आदेश दिए।

कलक्ट्रेट में आयोजित समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद रुद्रप्रयाग से केवल 75 फीसद आंगनबाड़ी केंद्रों की मोबाइल के माध्यम से उपस्थिति दर्ज हो रही है। ऐसे 25 फीसद आंगनबाड़ी केंद्रों को एक सप्ताह के भीतर सीडीपीओ चिह़्नित करें। केंद्रों से ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज होनी चाहिए।

डीएम ने जनपद के कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों की सूची आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ता के संयुक्त हस्ताक्षर से हर माह की रिपोर्ट उपलब्ध कराने, प्रथम चरण में जनपद के 30 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र बनाने के लिए प्रस्ताव आंकलन तैयार करने के निर्देश बाल विकास विभाग के अधिकारियों को दिए।

प्रथम बार गर्भवती हो रही महिला को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से नहीं जोड़ने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को तत्काल निलंबित करने के आदेश जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिए। इसके साथ ही जनपद की बेटियों को सेल्फ डिफेंस का प्रशिक्षण देने, महिलाओं को जाखधार में कृषि व बागवानी का प्रशिक्षण देने के निर्देश भी जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिए।

समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सरदार सिंह चौहान, जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एसके झा, मुख्य शिक्षा अधिकारी सीएन. काला, जिला पंचायतराज अधिकारी चमन सिंह राठौर, जिला उद्यान अधिकारी योगेंद्र चौधरी, मुख्य कृषि अधिकारी एसएस. वर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

विशेष