देश/प्रदेश

अंतिम गांव तक विकास पहुंचने से रुकेगा पलायन

अल्मोड़ा : भाजपा के पंचायत प्रतिनिधि सम्मेलन में ग्राम प्रधान, क्षेत्र व जिला पंचायत सदस्यों से गांवों की तस्वीर बदलने का आह्वान किया गया। मुख्य वक्ता आरएसएस के प्रांत प्रमुख पवन ने अपने-अपने क्षेत्र के गांवों को आदर्श बनाने पर जोर देते हुए पलायन पर चिंता के बजाय गांव छोड़ चुके ग्रामीणों को रचनात्मक, धार्मिक व सामाजिक कार्यो के बहाने बुलाने का सुझाव दिया। कहा कि अंतिम छोर तक जनकल्याण की योजनाएं पहुंचा कर पंचायत प्रतिनिधि पलायन रोकने में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

 

नगर स्थित एक सभागार में रविवार को पंचायत प्रतिनिधि सम्मेलन में मुख्य वक्ता पवन ने गांवों का विकास कर पलायन पर लगाम लगाने पर जोर दिया। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि वह गोसंरक्षण, पर्यावरण, जल संवर्धन के लिए अपने क्षेत्रों में कदम बढ़ाएं। तभी वह अपने क्षेत्र के गांवों को आदर्श बना सकेंगे। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को अधिकारों को जान केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं को अंतिम गांव तक पहुंचाने की जरूरत बताई।

मुख्य अतिथि राज्य मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि सम्मेलन निश्चित रूप से पंचायत प्रतिनिधियों को नई ऊर्जा के साथ कार्य करने की प्रेरणा देगा। उन्होंने कहा कि वह अपने पंचायत क्षेत्रों को नशे से दूर रखने के लिए काम करें। महिला प्रतिनिधियों से अपने बच्चों को नैतिक शिक्षा भी दें, ताकि वह ग्रामीण व सामाजिक विकास में हाथ बंटा सकें।

हरेक जरूरतमंद तक पहुंचाएं योजनाएं : ललित

 

अध्यक्षता कर रहे डीसीबी अध्यक्ष ललित सिंह लटवाल ने अंतिम व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने पर जोर दिया। प्रदेश संगठन मंत्री हिदू जागरण मंच भगवान कार्की ने कार्यक्रम का ब्योरा प्रस्तुत किया।

इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष रवि रौतेला, पूर्व जिलाध्यक्ष गोविंद पिलखवाल, भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल, नगर अध्यक्ष कैलाश गुरुरानी, ग्राम प्रधान संगठन अध्यक्ष रणजीत नयाल, जिपं सदस्य योगेश बाराकोटी, सुरेंद्र मेहरा, बीडीसी देवेंद्र नयाल, आनंद डंगवाल, सूरज अलमिया, वीरेंद्र बिष्ट, रमेश बहुगुणा, विनीत बिष्ट, प्रकाश भट्ट, अमित साह, महेश नयाल, दर्शन रावत, मनीष जोशी, राजेंद्र राणा, ललित मेहता, संजय डालाकोटी, शैलेंद्र साह, अजय वर्मा आदि मौजूद रहे।

 

विशेष